Utsavs

View Recent Utsav Celebrations

Utsavs – An Understanding

Observed on Ashadh Poornima to inculcate respect & pride towards our forefathers; remembrance of our Guru - Ishwara - to prepare ourselves as an instrument in his hands to do his work with attitude of Sadhana.

Objectives
  • To acquaint with our Guru Tradition and to know about Guru Omkar
  • To reconnect with Ishwara and to remind ourselves and to remind that we are his work.
Programs Bhajans, lectures and discussions on Guru-Shishya tradition and its contemporary significance. Herewith attached an inspiring cum guideline letter from Adaraneeya NiveditaDidi, Vice President, Vivekananda Kendra, Kanyakumari
Swami Vivekananda in his lectures at Chicago starting from 11 September 1893 gave a call for Universal Brotherhood. He said that the man on this earth has continued too long to be fanatic about insisting that his religion alone was true and other religions being false had no right to exist. He also stressed that as long as this situation persists there can be only bloodshed in the name of religion and no brotherhood which, the practice of religion should actually bring about, would be possible.

At present though it appears that fanaticism and terrorism is engulfing the whole world, actually it is like the flame that flickers the brightest before getting extinguished. Swami Vivekananda had said that, “Sectarianism, bigotry, and its horrible descendants, fanaticism, have long possessed this beautiful earth. They have filled this earth with violence, drenched it often and often with human blood, destroyed civilisation and sent whole nations to despair. Had it not been for these possible demons, human society would be far more advanced than it is now. But their time has come…”

Objectives
  • To bring the focus of our youth to the Dynamics of our Motherland, Her great present strength and also Her destiny to guide the world.
  • To spread the message of Swami Vivekananda amongst the public
  • To focus on cultural traditions
  • To pay homage to all those who laid their lives for the protection of our Motherland.

Programs: Competitions in school, colleges; seminars, group discussions, in-depth study of Swamiji's teachings. Herewith attached an inspiring cum guideline letter from Adaraneeya NiveditaDidi, Vice President, Vivekananda Kendra, Kanyakumari
Observed on 19 November - Ekanathji Jayanti. Remembering the founder of Vivekananda Kendra, studying his vision and rededicating ourselves to the mission of Nation building.

Objectives
  • To pay homage to the founder of Vivekananda Kendra, Mananeeya Eknathji Ranade
  • The divine Bharat is destined to guide the world. So in this Ishwari Karya of National Resurgence Karyakarta is the chosen instrument. When the Karyakartas work with this Sadhanabhava it becomes their Sadhana.


Programs: Annual meeting of the Karyakartas organised and taking up the responsibilities - dayitva grahan.
Gita Jayanti observed on Margshirsh Shukla Ekadashi to revisit our base of Gita study for making life purposeful and to nourish ourselves with the vision of our Rishis.

ॐ पार्थाय प्रतिबोधितां भगवता नारायणेन स्वयं व्यासेन ग्रथितां पुराणमुनिना मध्येमहाभारतम्। अद्वैतामृतवर्षिणीं भगवतीमष्टादशाध्यायिनीम् अम्ब त्वामनुसन्दधामि भगवद्गीते भवद्वेषिणीम्॥१॥

Salutations unto thee, O Vyasa, of broad intellect and with eyes like the petals of a full-blown lotus, by whom the lamp of knowledge, filled with the oil of the Mahabharata, has been lighted!

Objectives
  • To nourish ourselves with the vision of our Rishis
  • To popularize Gita’s study for purposeful life, for National Resurgence.
Letter on Gita Jayanti 2020
Attachment Size
Letter on Gita Jayanti 2008 49.62 KB
Letter on Gita Jayanti 2009 140.31 KB
Letter on Gita Jayanti 2010 79.31 KB
Letter on Gita Jayanti 2011 79.47 KB
Letter on Gita Jayanti 2015 31.91 KB
Letter on Gita Jayanti 2016 44.24 KB
Letter on Gita Jayanti 2017 94.6 KB
Letter on Gita Jayanti 2018  
Letter on Gita Jayanti 2019 426.9 KB
Swami Vivekananda, after his wandering all over India, came to Kanyakumari and sat in meditation on 25,26 and 27 December 1892. Here he felt inspiration to at tend and address the World Parliament of Religions at Chicago in 1893.

Objectives
  • To bring the focus of our youth to the Dynamics of our Motherland, Her great present strength and also Her destiny to guide the world.
  • To spread the message of Swami Vivekananda amongst the public
  • To focus on cultural traditions.
  • To pay homage to all those who laid their lives for the protection of our Motherland.
Observed from 25th December to 12th January every year to awaken national consciousness among the youth focusing on the strengths of our Nation. Herewith attached an inspiring cum guideline letter from Adaraneeya NiveditaDidi, Vice President, Vivekananda Kendra, Kanyakumari


Recent Utsav




Udaipur

:

Swami Vivekananda Jayanti

15-Jan-2020 | 10594 Present

Read More

59 Institutes and 4 Universities participated in 2 day long Vivekananda Jayanti Rally. Students of Educational Institutes, staff of different offices, Medical Colleges, Universities welcomed the rally in their institute, Pushpanjali was offered by all of them to Swami Vivekananda's tablo, Songs were played and Brief inforamtion about Swamiji was given to participants.

Swami  Swami

Jodhpur

:

Samarth Bharat Parva- Vivekananda Jayanti

12-Jan-2020 | 100 Present

Read More

National Youth Day- Swami Vivekananda Jayanti was celebrated at Vivekananda Kendra Kanyakumari Branch Jodhpur, Geeta Bhawan. On this occasion, students of schools and colleges participated in the speech competition. The topic of the Speech Competition was "I Am Bharat". Shri KK Borana, RAS officer and Sah Nagar Pramukh of Vivekananda Kendra Kanyakumari Branch Jodhpur took an interactive session with all the participants.

Samarth  Samarth

Gulabpura

:

Vivekananda Jayanti

12-Jan-2020 | 250 Present

Read More

A studets' rally was organised on the occasion of Swami Vivekananda Jayanti at Aguncha Village. A programme was organised at the conclusion point where Parents and well wishers of Kendra also participated.

Vivekananda  Vivekananda

Kota

:

Vivekananda Jayanti

12-Jan-2020 | 98 Present

Read More

Bharat Mata Pujan and various competitions were organized on the occasion of Swami Vivekananda Jayanti at Shrinathpuram Sanskar Varg in which 50 children and 24 karykartas participated. The Pushpanjali karykram was conducted at the statue of Swami Vivekanand located at Aghora in RTU Kota by 24 karykartas.

Vivekananda  Vivekananda

Ajmer

:

एक भारत विजयी भारत की संकल्पना के साथ मनाई गई स्वामी विवेकानंद जी की जयंती

12-Jan-2020 | 200 Present

Read More

विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी शाखा अजमेर की ओर से आनासागर चौपाटी पर स्वामी विवेकानंद जयंती समारोह आयोजित किया गया । युवाओं और आम लोगों को स्वामी विवेकानंद जी के उपदेशों और उद्देश्य की जानकारी देने हेतु चित्र प्रदर्शनी आयोजित की गई साथ ही स्वामी जी के साहित्य की स्टाल भी लगाई गई।जयंती समारोह का शुभारंभ तीन ओंकार प्रार्थना एवं स्वामी जी के भजनों के द्वारा किया गया समारोह में विभिन्न साधकों द्वारा विवेकानंद शिला स्मारक कन्याकुमारी की 50 वी वर्षगांठ पर प्रकाशित पुस्तक का वाचन लगातार जारी रहा सभी साधकों द्वारा भुवनमण्डले नवयुगमुदयतु सदा विवेकानन्दमयम् गीत गाकर उत्सव मनाया गया। नगर प्रमुख अखिल शर्मा ने बताया कि चौपाटी स्थित विवेकानंद जी के चित्र पर लोगों द्वारा पुष्पांजलि की गई तथा सैकड़ों युवाओं ने स्वामी जी के चित्र के साथ सेल्फी लेकर अपने आपको स्वामी जी के साथ आत्मसात किया। जयंती समारोह में शामिल हुए लोगों को विवेकानंद केंद्र की ओर से कन्याकुमारी स्थित स्वामी विवेकानंद शिला स्मारक का चित्र एवं पुस्तक भेंट की गई और उन्हें शिला स्मारक निर्माण के लिए देशवासियों द्वारा पूर्व में किए गए योगदान से अवगत कराया गया। इसके अतिरिक्त विवेकानंद विस्तार में संचालित संस्कार वर्ग के बच्चो द्वारा स्वामी विवेकानंद जयंती पर रैली का आयोजन किया जिसमें युवा प्रमुख अंकुर प्रजापति ने मार्गदर्शन किया।

एक  एक

Jaipur

:

Samarth Bharat Parv

25-Dec-2019 to 12-Jan-2020 | 692 Present

Read More

Various Programmes like Street Plays, College and School Lectures

Samarth  Samarth

Bhilwara

:

Samartha Bharat Parva

25-Dec-2019 | 4523 Present

Read More

To mark Swami Vivekananda Jayanti and Samartha Bharat Parva. Bhilwara Nagar organised 14 programmes in the town. Lectures in Schools, Rangoli making, public programmes etc were organised.

Samartha  

Jaipur

:

Geeta Jayanti

15-Dec-2019 | 680 Present

Read More

Venue : Sushrut Auditorium, SMS Hospital. Sub: Krishna, The Strategist. Main Speaker : Ma. Nivedita Didi, Chief Guest : Dr. Kalraj Mishra (Hon'ble Governor, Rajasthan)


Ajmer

:

भगवद्गीता का संदेश है युद्ध करो - प्रांजलि येरीकर

08-Dec-2019

Read More

प्रत्येक मनुष्य के जीवन में आंतरिक तथा बाहरी युद्ध हो रहा है। इसमें विजयी होने के लिए आज कृष्ण का संदेश देने का कार्य भगवद्गीता ़द्वारा हो सकता है। गीता के द्वारा मोह दूर हो सकता है साथ ही पुरूषार्थ जागरण भी संभव है। गीता का प्रासंगिक संदेश समाजोत्थान के लिए व्यक्ति तटस्थ न होकर आक्रामक बने तभी भारत विजयी हो सकता है। महाभारत के युद्ध में भगवान कृष्ण द्वारा अर्जुन को युद्ध करने के लिए प्रेरित किया जाना केवल धर्म स्थापना ही न होकर अच्छे लोगों के रक्षण तथा दुष्टों के विनाश के लिए भी था। आज समाज में बढ़ती हुई विकृतियों को दूर करने के लिए भले ही हमारे पास कृष्ण न हों किंतु युवाओं के रूप में अर्जुनों की कमी नहीं है। हमें केवल उन्हें संस्कार एवं मूल्य परक शिक्षा देनी होगी जो भगवद्गीता के माध्यम से ही संभव हो सकती है। केवल गीता के अध्ययन से ही यह संभव नहीं होगा बल्कि गीता के संदेश को आचरण में उतारने हेतु युवाओं को प्रशिक्षित करना होगा। समाज को संस्कारवान एवं चरित्रवान युवा देने का कार्य आज विवेकानन्द केन्द्र पूरे भारतवर्ष में कर रहा है। उक्त विचार विवेकानंद केंद्र कीे जीवनव्रती कार्यकर्ता एवं प्रान्त संगठक प्रांजलि येरीकर ने होटल आराम वैशाली नगर में आयोजित गीता जयन्ती महोत्सव के अवसर पर व्यक्त किए। नगर प्रमुख अखिल शर्मा ने बताया कि इस अवसर पर गीता पर आधारित प्रश्नोत्तरी का संचालन महर्षि दयानन्द सरस्वती विश्वविद्यालय, अजमेर के योग विभाग के डाॅ0 लारा शर्मा ने किया। इस अवसर पर विजेतागण के बालकिशन ईणानी, कुशल उपाध्याय, राधा राठी, समीर शर्मा, को कर्मयोग की पुस्तक नगर संचालक डाॅ0 श्याम भूतड़ा ने भेंट की। डाॅ0 अनिता खुराना ने कर्मयोग श्लोक संग्रह का सस्वर वाचन किया तथा विवेकानन्द केन्द्र की उपाध्यक्ष पद्मश्री निवेदिता भिड़े द्वारा प्रेषित गीता जयन्ती पत्र का वाचन भी हुआ।

भगवद्गीता  भगवद्गीता

Jaipur

:

Sadhana Diwas

24-Nov-2019

Read More

" आज विवेकानन्द केन्द्र कन्याकुमारी, शाखा जयपुर की ओर से पाथेय भवन, मालवीय नगर में केन्द्र के पांच उत्सवों में से एक साधना दिवस का आयोजन किया गया। यह उत्सव विवेकानन्द केन्द्र के संस्थापक माननीय एकनाथ रानाडे जी के जन्मदिवस (19 नवम्बर) के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। एकनाथ जी ने अपने सभी कार्यकर्ताओं को सेवा के पथ पर चलने का ध्येय मार्ग दिया है। अतः सभी कार्यकर्ताओं के लिए यह पथ एक साधना के समान है। एकनाथ जी का जीवन स्वयं एक साधना है जिसे उन्होंने कन्याकुमारी में विवेकानन्द शिला स्मारक के रूप में प्रतिपादित किया। शिला स्मारक के निर्माण की सभी बाधाओं को इसी साधना से अवसरों में परिवर्तित किया। साथ स्वामी विवेकानन्द के तीसरे स्वप्न को साकार करते हुए विवेकानन्द केन्द्र की स्थापना की। आज पूरे भारत में एक हजार से अधिक शाखाओं एवं प्रकल्पों के माध्यम से अनेक कार्यकर्ता आध्यात्मिक चेतना से अनुप्राणित हो सेवा के माध्यम से राष्ट्र पुनरुत्थान के पुनीत कार्य में लगे हैं। अतः यह शुभ दिवस केन्द्र के प्रत्येक कार्यकर्ता के लिए साधना दिवस ही है। कार्यक्रम का शुभारंभ प्रातः 10:30 पर रुचिका दीदी द्वारा तीन ॐ एवं प्रार्थना के साथ किया गया। इसके बाद विवेकानन्द केन्द्र की जीवनवृत्ति कार्यकर्ता एवं जयपुर विभाग संगठक आ. श्वेता दीदी के साथ सभी ने मिलकर सुन्दर गीत गाया। तत्पश्चात जयपुर विभाग के सम्पर्क प्रमुख आ. महेश जी मोदी ने सुन्दर बौद्धिक के माध्यम से सभी उपस्थित जनों को साधना दिवस के इस उत्सव का महत्व समझाया। बौद्धिक के पश्चात जयपुर विभाग व्यवस्था प्रमुख आ. अविनाश जी पारीक ने एकनाथ जी का जीवन परिचय दिया। तत्पश्चात विवेकानन्द केन्द्र की जयपुर नगर की माननीया नगर संचालिका डॉ शीला राय ने सभी को एक पत्र का स्वाध्याय करवाया जिसे विवेकानन्द केन्द्र की अखिल भारतीय उपाध्यक्ष माननीया निवेदिता दीदी ने देश भर में सभी कार्यकर्ताओं के नाम प्रेषित किया था। सभी ने मिलकर पत्र का स्वाध्याय एवं मंथन कर अपने परिचय के साथ ॐ, स्वामी विवेकानन्द एवं एकनाथ जी के चित्र के समक्ष पुष्पांजलि अर्पित की। अंत में शान्ति मंत्र के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ। कार्यक्रम में कुल उपस्थिति 48 रही। विशेष उपस्थिति माननीया डॉ शीला राय (जयपुर नगर संचालिका), माननीय शैलेन्द्र जी भाटिया (जयपुर सह नगर संचालक), सुश्री श्वेता दीदी (जयपुर विभाग संगठक) श्री महेश जी मोदी (जयपुर विभाग सम्पर्क प्रमुख), श्री ओम प्रकाश जी गुप्ता (जयपुर विभाग सह सम्पर्क प्रमुख), श्री अविनाश जी पारीक (जयपुर विभाग व्यवस्था प्रमुख) एवं श्री चेतन प्रकाश जी गोयल (जयपुर नगर प्रमुख) की रही। कार्यक्रम में विवेकानन्द स्टडी सर्कल के युवा कार्यकर्ताओं का विशेष योगदान रहा। इन सभी के कड़े श्रम से कार्यक्रम सफल रहा।"


Jodhpur

:

Sadhana Diwas

17-Nov-2019 | for Karyakartas

Read More

Vivekananda Kendra Kanyakumari Branch Jodhpur celebrated the Sadhana Diwas. On this occasion, the letter of Ma. Nivedita Didi, Vice President of Vivekananda Kendra Kanykumari was also read. The life character of Ma. Eknathji Ranade, founder of Vivekananda Kendra Kanyakumari and his qualities were discussed.


Beawar

:

साधना दिवस

17-Nov-2019 | 56 Present

Read More

At kendra karyalaya, evening 5 to 6 pm. Function celebrated only with karyakartas.


Ajmer

:

साधना दिवस

17-Nov-2019 | 75 Present

Read More

"किसी भी राष्ट्र के पुनरुत्थान के लिए उसके नागरिकों का लोकसंस्कार जरूरी है। लोकसंस्कार का अर्थ सभी जातियों, वर्ण तथा भिन्नता को दरकिनार करते हुए भारत के उत्थान के लिए संगठित होकर काम करना। जब आपसी मतभेदों को बुलाकर एक वृहद् उद्देश्य की पूर्ति के लिए श्रेष्ठ विचार पर श्रद्धा पूर्वक कार्य करना प्रारंभ किया जाता है तब सांस्कृतिक विरासत का संरक्षण होता है। परंतु इसके लिए आवश्यक है कि हम बिना किसी पूर्वाग्रह के आगे बढ़ें और अपने उद्देश्य के प्रति स्पष्ट रहें। जीवन में सकारात्मक भाव से सबकुछ प्राप्त किया जा सकता है। एक भारत विजयी भारत संपर्क कार्यक्रम के अवसर पर आयोजित साधना दिवस में विवेकानन्द केन्द्र कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए अजमेर दक्षिण कीे विधायक अनिता भदेल ने कहा कि विवेकानन्द शिला स्मारक के 50 वर्ष के अवसर पर संपर्क के लिए एक व्यवस्थित योजना बनाते हुए प्रत्येक भारतवासी के हृदय में व्याप्त स्वामी विवेकानंद के प्रति श्रद्धा और उनके विचारों को प्रचारित करने का यह सुनहरा अवसर है। उन्होंने विवेकानंद केंद्र के संस्थापक एकनाथजी रानडे के बारे में बताया कि एकनाथजी लोकसंपर्क को संगठन की आधारशिला मानते हुए इससे वाणी के परिष्कृत होने की बात कहते थे। इस प्रकार जब संपर्क साधना बन जाता है तब ही साधना दिवस का सही अर्थों में मनाना सार्थक होगा। विवेकानन्द केंद्र के नगर प्रमुख अखिल शर्मा ने बताया एकनाथजी के जन्मदिवस पर आयोजित साधना दिवस को विवेकानंद केंद्र के रामकृष्ण विस्तार में शिवाजी पार्क तथा विवेकानंद विस्तार में भजन गंज योग वर्गों में मनाया गया। इस अवसर योगाभ्यास में आसन, सूर्यनमस्कार तथा विभिन्न खेलों का आयोजन हुआ। इस अवसर पर केंद्र के नगर संचालक डॉ श्याम भूतड़ा, विभाग सह संचालक कुसुम गौतम, विभाग संपर्क प्रमुख रविन्द्र जैन, युवाप्रमुख अंकुर प्रजापति, सह नगर प्रमुख बीना रानी, विस्तार संचालक दिनेश नवाल, विस्तार प्रमुख कुशल उपाध्याय, प्रांत प्रशिक्षण प्रमुख डॉ. स्वतंत्र शर्मा सहित सभी कार्यकर्ताओं का सहयोग रहा। इस अवसर पर विवेकानंद केंद्र की उपाध्यक्ष पद्मश्री निवेदिता भिड़े द्वारा प्रेषित पत्र का वाचन भी किया गया। इस अवसर पर दोनों विस्तारों के 75 लोगों की उपस्थिति थी।"

साधना  साधना

Jodhpur

:

Universal Brotherhood Day

09-Nov-2019 | 3340 Present

Read More

On the occasion of Universal Brotherhood Day,Students were"informed about the character of Swami Vivekananda by visiting various schools through Vivekananda Kendra Kanyakumari branch Jodhpur. This program was held in 8 schools of Jodhpur. On 11th September a Debate competition was organized at the Vivekananda Kendra Kanyakumari Jodhpur.


Ajmer

:

विश्व बंधुत्व दिवस कार्यक्रम

19-Sep-2019 | 618 Present

Read More

महान आत्माओं का परिचय उनके कार्य से ही पता चलता है। जगत के हित के लिए किया गया कार्य ही आत्मा का मोक्ष होता है। बल संख्या या अर्थ से नहीं आता है बल्कि बल आत्मा से ही आता है। शक्ति का एकमात्र स्रोत आत्मा है। जीवन का पाठ कंठस्थ करने से नहीं बल्कि जीवन में उसे उतारने से याद होता है। स्वामी विवेकानन्द ने ईसाई व इस्लाम का गहन अध्ययन किया। रिलीजन का अनुसाद धर्म नहीं है। भारत का धर्म आध्यात्मिकता है। भारतीय समाज शासक को आदर्श नहीं मानता बल्कि त्यागियों और तपस्वियों को आदर्श मानता है। भारत के केवल दो राष्टीय आदर्श हैं त्याग और सेवा। विश्वधर्म संसद यह मान चुकी थी कि स्वामी विवेकानन्द के सुनने के बाद भारत में धर्म के प्रचार के लिए ईसाई मिशनरी भेजना मूर्खता है। रविन्द्रनाथ टैगौर भारत को जानने के लिए विवेकानन्द के अध्ययन की बात करते थे। पूरी दुनिया भारत को ज्ञान का केन्द्र मानती है क्योंकि भारत में वो युगपुरूष हुए हैं जो दुनिया से अज्ञान की धूल हटाते हैं। उक्त विचार केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने ‘अध्यात्म प्रेरित सेवा संगठन’ विवेकानन्द केन्द्र कन्याकुमारी के विवेकानन्द शिला स्मारक के 50वें वर्ष में प्रवेश करने के अवसर पर ‘एक भारत विजयी भारत’ संपर्क महाअभियान के दौरान मनाए जाने वाले विश्वबंधुत्व दिवस पर व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि सत्य केवल एक ही है कि दूसरों का हित करना ही पुण्य है और दूसरों का अहित करना ही पाप है। यही भारत के धर्म का निचोड़ है। हमारी संस्कृति ने ही हमें बचा कर रखा है। दुनिया के तमाम बड़े लोग यह मानते हैं कि भारत के ज्ञान की आवश्यकता पूरी दुनिया को है। भारत की भूमि ही दुनिया की सबसे पवित्र और मानव जीवन के लिए सबसे अनुकूल भूमि थी इसीलिए आदम को भारत की धरती पर उतारा गया। मोहम्मद साहब मदीने में बैठकर भी भारत से ज्ञान की ठण्डी हवा के झोंके महसूस करते थे। इस कार्यक्रम में विशिष्ठ अतिथि महापौर धर्मेन्द्र गहलोत ने कहा कि सिद्धांतों को जीवन में उतारने का उदाहरण स्वामी विवेकानन्द का जीवन बताता है। विवेकानन्द ने अपने जीवन में जब कोचवान बनने इच्छा प्रकट की तब उनकी मां ने उनको प्रोत्साहित किया और भगवान कृष्ण के जैसा कोचवान बनने को प्रेरित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे प्रान्त प्रमुख भगवान सिंह ने एक भारत विजयी भारत महासंपर्क अभियान की सार्थकता पर विचार प्रकट किए तथा अखिल भारतीय स्तर पर राष्ट्रवादी विचारवान लोगों का एकत्रीकरण करते हुए भारत को विश्वगुरू की ओर अग्रसर करने का संकल्प व्यक्त किया। नगर प्रमुख अखिल शर्मा ने बताया कि इस अवसर पर राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान द्वारा विवेकानन्द केन्द्र की उपाध्यक्ष पदम्श्री निवेदिता भिड़े द्वारा लिखित पुस्तक हमारे शाश्वत प्रेरणास्रोत का विमोचन भी किया गया। पुस्तक में विवेकानन्द केन्द्र के संस्थापक एकनाथजी द्वारा स्वामी विवेकानन्द के 100 वर्ष पूर्ण होने पर कन्याकुमारी शिला पर स्मारक बनाने की विजयगाथा के रूप में संक्षिप्त वर्णन किया गया है। कार्यक्रम के आयोजन में भारत विकास परिषद् की अजमेर शाखा का सहयोग रहा। कार्यक्रम का संचालन उमेश कुमार चौरसिया ने किया तथा आभार ज्ञापन नगर संचालक डाॅ0 श्याम भूतड़ा ने किया। कार्यक्रम में प्रान्त संघटक प्रांजलि येरीकर प्रान्त प्रशिक्षण प्रमुख डॉ. स्वतंत्र शर्मा प्रान्त संपर्क प्रमुख अशोक खंडेलवाल प्रान्त सह प्रमुख अविनाश शर्मा सहित विवेकानन्द केन्द्र कन्याकुमारी तथा भारत विकास परिषद् के कार्यकर्ताओं का सहयोग रहा।

विश्व  विश्व

Jaipur

:

Universal Brotherhood Day

19-Sep-2019

Read More

Venue : Govt. Women's Polytechnic College, Jaipur


Jaipur

:

Universal Brotherhood Day

19-Sep-2019

Read More

Venue : Govt. Women's Polytechnic College, Jaipur


Beawar

:

विश्व बंधुत्व दिवस

11-Sep-2019 | 100 Present

Read More

विवेकानंद केन्द्र शाखा ब्यावर द्वारा *विश्व बंधुत्व दिवस* का कार्यक्रम सनातन धर्म राजकीय महाविद्यालय के प्रांगण में मनाया गया। महाविद्यालय के प्राचार्य आदरणीय पुखराज जी देपाल एवं केंद्र के प्रान्त व्यवस्था प्रमुख आदरणीय कैलाश नाथ जी ने मूर्ति पर माल्यार्पण किया । महाविद्यालय के प्राचार्य महोदय और आदरणीय कैलाश नाथ जी ने उपस्थित महाविद्यालय के विद्यार्थियों , केन्द्र कार्यकर्ताओं और शुभचिन्तकों को संक्षिप्त में उध्बोधन दिया । श्री मुकेश जी पांडे के द्वारा आभार व्यक्त किये जाने के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ। कार्यक्रम में कुल उपस्तिथि लगभग 100 रही।

विश्व  विश्व

Jodhpur

:

Geeta Jayanti

12-Aug-2019

Read More

Geeta Jayanti was celebrated by Vivekananda Kendra Kanyakumari Branch Jodhpur at Geeta Bhawan. On this occasion the entire Shlokas of 'Shrimad Bhagwad Geeta' was chanted. The concluding remarks was given by Shri Deepak D. Khaire, Life Worker of Vivekananda Kendra.

Geeta  

Udaipur

:

Guru Poornima

23-Jul-2019 | 72 Present

Read More

Guru Poornima Utsav was organised at Mohan Lal Sukhadia Vishwa Vidylaya - Arts College. The chief speaker on the occasion was Dr Parmendra Dashora, Former Vice Chanceller, Kota University. Shri. Dashora ji emphasised on the importance of Guru in life and also stated who is Guru in true sense. the programme was attended by 72 students and staff.

Guru  Guru

Beawar

:

Guru Purnima

19-Jul-2019 | 140 Present

Read More

In B L Gothi Senior Secondary School. Karyakram Sanchalak Prashant Pabuwal. Speech by Dr Anirudh Sharma


Jodhpur

:

Guru Poornima

16-Jul-2019

Read More

Vivekananda Kendra Kanyakumari Branch Jodhpur celebrated the Guru Poornima Utsav. On this occasion, the letter of Ma. Nivedita Didi, Vice President of Vivekananda Kendra Kanykumari was also read. Shri Deepak D. Khaire, Life worker and Hindi Prakashan Vibhag Prakalp Sangathak of Vivekakanda Kendra was the main speaker.


Ajmer

:

गुरु पूर्णिमा

16-Jul-2019 | for Karyakartas

Read More

"दायित्वग्रहण के साथ विवेकानन्द केन्द्र ने मनाई गुरूपूर्णिमा अध्यात्म प्रेरित सेवा संगठन विवेकानन्द केन्द्र ने माहेश्वरी सेवा समिति भवन कृष्णगंज में गुरूपूर्णिमा महोत्सव मनाया। गुरू पर आधारित भजनों के साथ विवेकानन्द केन्द्र की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष निवेदिता भिड़े का संदेश पत्र पढ़कर सुनाया गया। इस अवसर पर विवेकानन्द केन्द्र के दायित्ववान कार्यकर्ताओं ने मनुष्य निर्माण से राष्ट्र पुनरुत्थान के उद्देश्य से दायित्वों को ग्रहण किया। इस अवसर पर वार्षिक प्रतिवेदन का विमोचन भी किया गया। इस अवसर पर प्रान्त संचालक बद्री प्रसाद पंचोली, उमेश कुमार चैरसिया, डाॅ0 स्वतन्त्र शर्मा, डाॅ0 श्याम भूतड़ा, अखिल शर्मा, कुसुम गौतम, सविता शर्मा आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे।"

गुरु  

Jaipur

:

Guru Purnima

16-Jul-2019 | 63 Present

Read More

"विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी शाखा जयपुर विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी शाखा जयपुर की ओर से 16 जुलाई 2019 को गुरु पूर्णिमा उत्सव मनाया गया। स्तवन, गुरु भजन के पश्चात ""आदरणीय प्रांजली दीदी"" (प्रांत संगठक) ने 'ओम' के महत्व के विषय पर व विवेकानंद केंद्र में 'ओमकार' के महत्व पर सभी का मार्गदर्शन प्रदान किया। इसके पश्चात केंद्र के वार्षिक प्रतिवेदन का विमोचन किया गया। इसके पश्चात दायित्वान कार्यकर्ता ने पुष्प अर्पण करके दायित्व को सुचारू रूप से करने का संकल्प लिया। शांति मंत्र एवं केंद्र प्रार्थना के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ। इस कार्यक्रम में विभाग संचालक श्री सीताराम सेठी, नगर संचालक श्रीमती डॉ शीला राय, श्री ओमप्रकाश गुप्ता, श्री महेश मोदी, श्री अविनाश पारीक एवं श्री शैलेंद्र भाटिया जी का सानिध्य प्राप्त हुआ कार्यक्रम में कुल उपस्थिति 63 रही। "

Guru  Guru

Bhilwara

:

Guru Poornima

16-Jul-2019 | 73 Present

Read More

Since last 2 years Bhilwara branch is honouring few noted persons who work for the society without any expectation. This year branch honoured 15 such Sevavratis. They were presented a memento of Vivekananda Rock Memorial to mark 50th Year Celebration of VRM.


Rajasthan-Prant

:

Utsava Celebration in Prant

01-Apr-2019 to 31-Mar-2020

Read More

Guru Poornima was celebrated at 11 places in the prant in which 883 people participated. Bhilwara branch honoured 15 ‘Seva Vratis’ - persons who serve the society without any expectation. Universal Brotherhood Day was organised at 17 places 4495 persons participated in these programmes. Ajmer branch organised a grand programme on this occasion Hon. Governor of Kerala Shri. Arif Mohammad Khan was the chief speaker. Mananeeya Eknathji’s Jayanti , Sadhana Diwas was celebrated at 11 places 283 karyakartas participated and took sankalpa. 1039 people participated in Gita Jayanti utsava organised at 14 places. Samartha Bharat Parva and Swami Vivekananda Jayanti was celebrated with pomp and show at 105 places in which 17864 persons participated throughout the state. Many programmes like Rangoli, Bharat Mata Pujan, Selfie with Swamiji, Sahitya Sangam, Jana Samparka and different competitions were organised on he occasion.